Black money Shell companies crackdown: Doklam: Rahul Gandhi in Krishna Menon Role

Black money, Shell companies crackdown, China again Doklam, Rahul Gandhi, Krishna Menon Role, 1962, Amerrican defence expert, Prof James R Holmes, India mature, Mahatma Gandhi assassination probe, Not Godse, B G Keskar, Abhinav Bharat

PM Modi ke man ki baat: Naye varsh se Janta ke achche din aur black money aur unke sanrakshak netaon ke bure din:

Man ki baat, Pradhan Mantri Modi ke Man ki baat, Black money, Neta, Achche din, Bure din, Note bandi, E-payment, Christmast, Online, Cashless, Digital, PMO

प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात: नए वर्ष से जनता के अच्छे दिन ब्लैक मनी और उनके संरक्षक नेताओं के बुरे दिन : PM Modi ke man ki baat: Naye varsh se Janta ke achche din aur black money aur unke sanrakshak netaon ke bure din:

 

 

दिसम्बर 25, 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की “मन की बात”  :  नोटबंदी के बाद मोदी की यह दूसरी मन की बात है।

You will be surprised to know that 30 crore ppl in India have RuPay cards, of those 20 crore belong to poor families: PM Modi  

*कार्यक्रम के प्रारम्भ में प्रधान मंत्री मोदी ने लोगों को क्रिसमस की बधाई दी * उन्होंने ने कहा आम आदमी की मदद से पूरा हुआ मकसद* पीएम मोदी ने कहा – यह झूठ है कि राजनीतिक दलों के लिए सब छूट है *बार-बार नियम बदलने पर बोले मोदी- लोगों को परेशान देखकर फैसला बदला जाता है * मन की बात में मोदी ने दिया क्रिसमस गिफ्ट, ई-पेमेंट पर पाएं इनाम *

ने आज से शुरू हो रही दो नई योजनाओं के सम्बन्ध में चर्चा की : जिनके तहत ऑनलाइन पेमेंट करने वालों को ईनाम दिए जाएंगे : मोदी जी ने कहा कि क्रिसमस की सौगात पर 15 हजार लोगों को एक-एक हजार रुपए का ईनाम मिलेगा। उन्होंने बताया कि यह योजना 100 दिन तक चलेगी। 100 दिनों में करोड़ों का ईनाम देशवासियों को मिलेगा। मोदी ने सप्ताह में एक बड़े ड्रा के बारे में भी बताया और आगे कहा कि तीन महीने बाद करोड़ों के ईनाम भी मिलेंगे। मोदी ने कहा कि लोगों को अपने जानने वालों को कैशलेस पेमेंट के बारे में सीखना चाहिए। मोदी ने बताया कि कैशलेस पेमेंट करने वाले व्यापारियों को टैक्स में भी छूट मिलेगी।

लगातार पकड़े जा रहे पुराने और नए नोट पर बात करते हुए मोदी जी ने कहा कि लोगों के पकड़े जाने का रहश्य यही है कि लोग उन्हें काले धन और भ्रष्टाचार से जुड़ी काफी जानकारी दे रहे हैं। मोदी ने बताया मन की बात के लिए उनके पास इस बार 90 प्रतिशत सुझाव कालाधन और भ्रष्टाचार के लिए आए थे।

(यहाँ उल्लेख करना आवश्यक है कि ई दी, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ८०% छापे काले धन वालों पर पीएमओ ऑफिस की सूचना पर मार रहे हैं और पीएमओ को यह सूचना आम ईमानदार लोगों ने पहुंचाई है। एक भी सूचना गलत नहीं निलली। इससे स्प्ष्ट है कि लोगों को जांच एजंसियों से ज्यादा प्रधानमंत्री पर भरोसा है। )

मोदी जी ने विपक्ष पर भी निशाना साधते हुए ने कहा कि नोटबंदी को विफल करने के लिए विपक्ष और लोगों ने काफी अफवाह फैलाई थीं। जिसमें नोट में कमी, नमक का महंगा होना, बाकी नोट का बंद होना जैसी बात शामिल है। लेकिन लोगों ने उनपर यकीन नहीं किया और उनके साथ रहे। मोदी ने संसद का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने संसद नहीं चलने दी।

*

25 द‍िसम्‍बर, 2016 को आकाशवाणी पर प्रसारित प्रधानमंत्री के ‘मन की बात’ शब्दशः 

नई दिल्ली: मेरे प्यारे देशवासियो, नमस्कार। आप सभी को क्रिसमस की अनेक-अनेक शुभकामनायें। आज का दिन सेवा, त्याग और करुणा को अपने जीवन में महत्व देने का अवसर है। ईसा मसीह ने कहा “गरीबों को हमारा उपकार नहीं, हमारा स्वीकार चाहिये”। Saint Luke के Gospel में लिखा है “जीसस ने न केवल गरीबों की सेवा की है, बल्कि गरीबों के द्वारा की गयी सेवा की भी सराहना की है” और यही तो असली empowerment है। इससे जुड़ी एक कहानी भी बहुत प्रचलित है। उस कहानी में बताया गया है कि जीसस एक temple treasury के पास खड़े थे। कई अमीर लोग आए, ढेर सारे दान दिए। उसके बाद एक ग़रीब विधवा आई और उसने दो तांबे के सिक्के डाले। एक तरह से देखा जाए दो तांबे के सिक्के, कुछ मायने नहीं रखते। वहाँ खड़े भक्तों के मन में, कौतुहल होना बड़ा स्वाभाविक था, तब जीसस ने कहा, कि उस विधवा महिला ने सबसे ज्यादा दान किया है, क्योंकि औरों ने बहुत कुछ दिया, लेकिन इस विधवा ने तो अपना सब कुछ दे दिया है।

आज 25 दिसम्बर, महामना मदन मोहन मालवीय जी की भी जयन्ती है। भारतीय जनमानस में संकल्प और आत्मविश्वास जगाने वाले मालवीय जी ने आधुनिक शिक्षा को एक नई दिशा दी। उनकी जयन्ती पर भाव-भीनी श्रद्धांजलि। अभी दो दिन पहले, मालवीय जी की तपोभूमि बनारस में मुझे कई सारे विकास के कार्यों का शुभारम्भ करने का अवसर मिला। मैंने वाराणसी में, BHU में, महामना मदन मोहन मालवीय Cancer Centre का भी शिलान्यास किया है। इस पूरे क्षेत्र में निर्माण हो रहा है एक Cancer Centre. न सिर्फ़ पूर्वी उत्तर-प्रदेश, लेकिन, झारखण्ड-बिहार तक के लोगों के लिये एक बहुत बड़ा वरदान होगा।

आज, भारत रत्न एवं पूर्व प्रधानमंत्री आदरणीय अटल बिहारी वाजपेयी जी का भी जन्मदिन है। ये देश अटल जी के योगदान को कभी नहीं भुला सकता। उनके नेतृत्व में हमने परमाणु शक्ति में भी, देश का सिर ऊपर किया। पार्टी नेता हो, संसद सदस्य हो, मंत्री हो या प्रधानमंत्री, अटल जी ने प्रत्येक भूमिका में, एक आदर्श को प्रतिष्ठित किया। अटल जी के जन्मदिन पर मैं उनको प्रणाम करता हूँ और उनके उत्तम स्वास्थ्य के लिये ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ। एक कार्यकर्ता के नाते अटल जी के साथ कार्य करने का सौभाग्य मिला। अनेक स्मृतियाँ आँखों के सामने उभर करके आती हैं। आज सुबह-सुबह जब मैंने tweet किया तो एक पुराना video भी मैंने share किया है। एक छोटे कार्यकर्ता के रूप में अटल जी का स्नेह-वर्षा का सौभाग्य कैसा मिलता था, उस video को देख करके ही पता चलेगा।

आज क्रिसमस के दिन, सौगात के रूप में, देशवासियों को दो योजनाओं का लाभ मिलने जा रहा है। एक प्रकार से दो नवतर योजनाओं का आरम्भ हो रहा है। पूरे देश में, गाँव हो या शहर हो, पढ़े लिखे हो या अनपढ़ हो, cashless क्या है! Cashless कारोबार कैसे चल सकता है! बिना cash खरीदारी कैसे की जा सकती है! चारों तरफ़ एक जिज्ञासा का माहौल बना है। हर कोई एक-दूसरे से सीखना-समझना चाहता है। इस बात को बढ़ावा देने के लिये, mobile banking को ताक़त मिले इसलिये, e-payment की आदत लगे इसलिये, भारत सरकार ने, ग्राहकों के लिये और छोटे व्यापारियों के लिये ‘प्रोत्साहक योजना’ का आज से प्रारंभ हो रहा है। ग्राहकों को प्रोत्साहन करने के लिये योजना है – ‘lucky ग्राहक योजना’ और व्यापारियों को प्रोत्साहन करने के लिये योजना है – ‘Digi धन व्यापार योजना’। आज

25 दिसम्बर को क्रिसमस की सौगात के रूप में, पंद्रह हज़ार लोगों को draw system से ईनाम मिलेगा और पंद्रह हज़ार के हर-एक के खाते में एक-एक हज़ार रूपये का ईनाम जाएगा और ये सिर्फ़ आज एक दिन के लिये नहीं है, ये योजना आज से शुरू हो करके 100 दिन तक चलने वाली है। हर दिन, पंद्रह हज़ार लोगों को एक-एक हज़ार रूपये का ईनाम मिलने वाला है। 100 दिन में, लाखों परिवारों तक, करोड़ों रुपयों की सौगात पहुँचने वाली है, लेकिन, ये ईनाम के हक़दार आप तब बनेंगे जब आप mobile banking, e-banking, RuPay Card, UPI, USSD ये जितने digital भुगतान के तरीक़े हैं उनका उपयोग करोगे, उसी के आधार पर draw निकलेगा। इसके साथ-साथ ऐसे ग्राहकों के लिये सप्ताह में एक दिन बड़ा draw होगा जिसमें ईनाम भी लाखों में होंगे और तीन महीने के बाद, 14 अप्रैल डॉक्टर बाबा साहेब आंबेडकर की जन्म जयन्ती है उस दिन एक bumper draw होगा जिसमें करोड़ों के ईनाम होंगे। ‘Digi धन व्यापार योजना’ प्रमुख रूप से व्यापारियों के लिये है। व्यापारी स्वयं इस योजना से जुडें और अपना कारोबार भी cashless बनाने के लिए ग्राहकों को भी जोड़ें। ऐसे व्यापारियों को भी अलग़ से ईनाम दिये जाएँगे और ये ईनाम हज़ारों की तादात में हैं। व्यापारियों का अपना व्यापार भी चलेगा और ऊपर से ईनाम का अवसर भी मिलेगा। ये योजना, समाज के सभी वर्गों, खास करके ग़रीब एवं निम्न मध्यम-वर्ग, उनको केंद्र में रख करके बनायी गई है और इसलिये जो 50 रूपये से ऊपर खरीदते हैं और तीन हज़ार से कम पैसों की खरीदी करते हैं, उन्हीं को इसका लाभ मिलेगा। तीन हज़ार रुपये से ज़्यादा खरीदी करने वाले को इस ईनाम का लाभ नहीं मिलेगा। ग़रीब से ग़रीब लोग भी USSD का इस्तेमाल कर feature फोन, साधारण फोन के माध्यम से भी सामान खरीद भी सकते हैं, सामान बेच भी सकते हैं और पैसों का भुगतान भी कर सकते हैं और वे सब इस ईनाम योजना के लाभार्थी भी बन सकते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोग AEPS के माध्यम से खरीद-बिक्री कर सकते हैं और वे भी ईनाम जीत सकते हैं। कइयों को आश्चर्य होगा, भारत में आज लगभग 30 करोड़ RuPay Card हैं, जिसमें से 20 करोड़ ग़रीब परिवार जो जन-धन खाता वाले लोग हैं, उनके पास है। ये 30 करोड़ लोग तो तुरंत इस ईनामी योजना का हिस्सा बन सकते हैं। मुझे विश्वास है कि देशवासी इस व्यवस्था में रुचि लेंगे और आपके अगल-बगल में जो नौजवान होंगे, वो ज़रूर इन चीज़ों को जानते होंगे, आप थोड़ा सा उनको पूछोगे वो बता देंगे। अरे, आपके परिवार में भी 10वीं-12वीं का बच्चा होगा, तो वो भी भली-भाँति चीज़ आपको सिखा देगा। ये बहुत सरल है – जैसे आप मोबाइल फोन से WhatsApp भेजते हैं न उतना ही सरल है।

मेरे प्यारे देशवासियो, मुझे ये जान करके ख़ुशी होती है कि देश में technology का उपयोग कैसे करना, e-payment कैसे करना, online payment कैसे करना, इसकी जागरूकता बहुत तेज़ी से बढ़ रही है। पिछले कुछ ही दिनों में cashless कारोबार, बिना नगद का कारोबार, 200 से 300 प्रतिशत बढ़ा है। इसको बढ़ावा देने के लिये भारत सरकार ने एक बहुत बड़ा फैसला लिया है। ये फैसला कितना बड़ा है इसका अंदाज़ तो व्यापारी बहुत अच्छी तरह लगा सकते हैं। जो व्यापारी digital लेन-देन करेंगे, अपने कारोबार में नगद के बज़ाय online payment की पद्धति विकसित करेंगे, ऐसे व्यापारियों को Income Tax में छूट दे दी गई है।

मैं देश के सभी राज्यों को भी बधाई देता हूँ। Union Territory को भी बधाई देता हूँ। सबने अपने-अपने प्रकार से इस अभियान को आगे बढ़ाया है। आंध्र के मुख्यमंत्री श्रीमान् चंद्रबाबू नायडू की अध्यक्षता में एक committee भी बनाई है, जो इसके लिये अनेक योजनाओं पर विचार कर रही है, लेकिन मैंने देखा कि सरकारों ने भी अपने तरीक़े से कई योजनाएँ लागू की है, आरंभ की है। किसी ने मुझे बताया की असम सरकार ने property tax और व्यापार license fee का digital भुगतान करने पर 10 फ़ीसदी छूट देने का निर्णय किया है। ग्रामीण बैंको के branch अपने 75% उपभोक्ता से जनवरी से मार्च के बीच कम से कम दो digital transaction करवाते हैं, तो उन्हें सरकार की ओर से 50 हज़ार रूपये ईनाम मिलने वाले हैं। 31 मार्च 2017 तक अगर 100% digital transaction करने वाले गाँवों को सरकार की ओर से Uttam Panchayat for Digi-Transaction के तहत 5 लाख रुपये का ईनाम देने की उन्होंने घोषणा की है। उन्होंने किसानों के लिये Digital Krishak Shiromani असम सरकार ने ऐसे पहले 10 किसानों को 5 हज़ार रुपया ईनाम देने का निर्णय किया है जो बीज और खाद की ख़रीद के लिए पूरी तरह digital भुगतान का इस्तेमाल करते हैं। मैं असम सरकार को बधाई देता हूँ लेकिन इस प्रकार से initiative लिये सभी सरकारों को बधाई देता हूँ। कई Organisations ने भी गाँव ग़रीब किसानों के बीच digital लेन-देन को बढ़ावा देने के कई सफल प्रयोग किये हैं। मुझे किसी ने बताया GNFC Gujarat Narmada valley Fertilizer और Chemical limited जो मुख्यतः खाद का काम करता है, उन्होंने किसानों को सुविधा हो इसलिये एक हज़ार Pose Machine खाद जहाँ बेचते हैं, वहाँ लगाए हैं और कुछ ही दिनों में 35 हज़ार किसानों को 5 लाख खाद के बोरे digital भुगतान के माध्यम से कर दिये और ये सब सिर्फ दो हफ्ते में किया है। और मज़ा यह है कि पिछले वर्ष की तुलना में GNFC की खाद की बिक्री में 27 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है।

भाइयो-बहनो, हमारी अर्थव्यवस्था में, हमारी जीवन व्यवस्था में, Informal Sector बहुत बढ़ा है और ज्यादातर इन लोगों का मज़दूरी का पैसा, काम का पैसा या पगार नग़द में दिया जाता है, Cash में salary दी जाती है और हमें पता है, उसके कारण मजदूरों का शोषण भी होता है। 100 रूपए मिलने चाहिये तो 80 मिलते हैं, 80 मिलने चाहिये तो 50 मिलते हैं और insurance जैसे health sector की दृष्टि से अन्य कई सुविधाएँ होती हैं उससे वो वंचित रह जाते हैं लेकिन अब cashless payment हो रहा है। सीधा पैसा बैंक में जमा हो रहा है। एक प्रकार से Informal Sector formal convert होता जा रहा है, शोषण बंद हो रहा है, cut देना पड़ता था वो cut भी अब बंद हो रहा है और मज़दूर को, कारीगर को, ऐसे ग़रीब व्यक्ति को पूरे पैसे मिलना संभव हुआ है। साथ-साथ अन्य जो लाभ मिलते हैं वे लाभ का भी वो हक़दार बन रहा है। हमारा देश तो सर्वाधिक युवाओं वाला देश है। Technology हमें सहज़ साध्य है। भारत जैसे देश ने तो इस क्षेत्र में सबसे आगे होना चाहिये। हमारे नौजवानों ने Start-Up से काफ़ी प्रगति की है। ये digital movement एक सुनहरा अवसर है हमारे नौजवान नये-नये idea के साथ, नयी-नयी technology के साथ, नयी-नयी पद्धति के साथ इस क्षेत्र को जितना बल दे सकते हैं देना चाहिये, लेकिन देश को काले धन से, भ्रष्टाचार से मुक्त कराने के अभियान में पूरी ताक़त से हमें जुड़ना चाहिये।

मेरे प्यारे देशवासियो, मैं हर महीने ‘मन की बात’ के पहले लोगों से आग्रह करता हूँ कि आप मुझे अपने सुझाव दीजिये, अपने विचार बताइए और हज़ारों की तादाद में MyGov पर और NarendraModiApp पर इस बार जो सुझाव आये, मैं कह सकता हूँ 80-90 प्रतिशत सुझाव भ्रष्टाचार और काले धन के ख़िलाफ़ की लड़ाई के संबंध में आये, नोटबंदी की चर्चा आयी। इन सारी चीज़ों को जब मैंने देखा तो मैं मोटे-मोटे तौर पर कह सकता हूँ कि मैं उसको तीन भागों में विभाजित करता हूँ। कुछ लोगों ने जो मुझे लिखा है, उसमें नागरिकों को कैसी-कैसी कठिनाइयाँ हो रही है, कैसी असुविधायें हो रही हैं। इसके संबंध में विस्तार से लिखा है। लिखने वालों का दूसरा तबक़ा वो है जिन्होंने ज्यादातर उन बातों पर बल दिया है कि इतना अच्छा काम, देश की भलाई का काम, इतना पवित्र काम, लेकिन उसके बावजूद भी कहाँ-कहाँ कैसी-कैसी धांधली हो रही है, किस प्रकार से बेईमानी के नये-नये रास्ते खोज़े जा रहे हैं, इसका भी ज़िक्र लोगों ने किया है। और तीसरा वो तबक़ा है जिन्होंने जो हुआ है, उसका तो समर्थन किया है लेकिन साथ-साथ ये लड़ाई आगे बढ़नी चाहिये। भ्रष्टाचार, काला धन पूर्णतः नष्ट होना चाहिये, इसके लिए और कठोर कदम उठाने चाहिये तो उठाने चाहिये, ऐसा बड़ा ही बल दे करके लिखने वाले लोग भी हैं।

मैं देशवासियों का आभारी हूँ कि इतनी सारी चिट्ठियाँ लिख करके मुझे आपने मदद की है। श्रीमान गुरुमणि केवल ने My Gov पर लिखा है काले धन पर लगाम लगाने का ये कदम प्रसंशा के योग्य है। हम नागरिकों को परेशानी हो रही है, लेकिन हम सब भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे हैं और इस लड़ाई में हम जो सहयोग दे रहे हैं, उससे हम खुश हैं। हम भ्रष्टाचार, काला धन इत्यादि के खिलाफ़ Military Forces की तरह लड़ रहे हैं। गुरु मणिकेवल जी ने जो बात लिखी है देश के हर कोने में से यही भावना उजागर हो रही है। हम सब इसको अनुभव कर रहे हैं। लेकिन ये बात सही है जब जनता कष्ट झेलती है, तकलीफ झेलती है तो कौन इंसान होगा जिसको पीड़ा न होती हो। जितनी पीड़ा आपको होती है, उतनी ही पीड़ा मुझे भी होती है। लेकिन एक उत्तम ध्येय के लिये, एक उच्च इरादे को पार करने के लिये, साफ नीयत के साथ जब काम होता है तो ये कष्ट के बीच, दुख के बीच, पीड़ा के बीच भी देशवासी हिम्मत के साथ डटे रहते हैं। ये लोग ही असल में Agent of Change बदलाव के पुरोधा हैं। मैं लोगों को एक और कारण के लिये भी धन्यवाद देता हूँ कि उन्होंने न केवल परेशानियाँ उठाई हैं, बल्कि उन चुनिन्दा लोगों को करारा जवाब भी दिया है, जो जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। कितनी सारी अफवाहें फैलाइ गई। भ्रष्टाचार और काले धन जैसी लड़ाई को भी साम्प्रदायिकता के रंग से रंगने का भी कितना प्रयास किया गया। किसी ने अफवाह फैलाइ नोट पर लिखी Spelling गलत है, किसी ने कह दिया नमक का दाम बढ़ गया है, किसी ने अफवाह चला दी 2000 के नोट भी जाने वाली है, 500 और 100 के भी जाने वाली है, ये भी फिर से जाने वाला है, लेकिन मैंने देखा भाँति-भाँति अफवाहों के बावज़ूद भी देशवासियों के मन को कोई डुला नहीं सका है। इतना ही नहीं, कई लोग मैदान में आए, अपने Creativity के द्वारा , अपने बुद्धि शक्ति के द्वारा अफवाह फैलाने वालों को भी बेनकाब किया, अफवाहों को भी बेनकाब कर दिया और सत्य लाकर के खड़ा कर दिया। मैं जनता के इस सामर्थ्य को भी शत-शत नमन करता हूँ।

मेरे प्यारे देशवासियो, ये मैं साफ अनुभव कर रहा हूँ, हर पल अनुभव कर रहा हूँ। जब सवा-सौ करोड़ देशवासी आपके के साथ खड़े हों तब कुछ भी असंभव नहीं होता है और जनता जनार्दन ही तो ईश्वर का रूप होती है और जनता के आशीर्वाद, ईश्वर के ही आशीर्वाद बन जाते हैं। मैं देश की जनता को धन्यवाद देता हूँ, उन्हें नमन करता हूँ कि भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ इस महायज्ञ में लोगों ने पूरे उत्साह के साथ भाग लिया है। मैं चाहता था कि सदन में भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ जो लड़ाई चल रही है राजनैतिक दलों के लिये भी, Political Funding के लिये भी, व्यापक चर्चा हो। अगर सदन चला होता तो ज़रूर अच्छी चर्चा होती। जो लोग अफवाहें फैला रहे हैं कि राजनैतिक दलों को सब छूट-छाट है, ये गलत है। कानून सब के लिये समान होता है और कानून का पालन भी चाहे व्यक्ति हो, संगठन हो या राजनैतिक दल हो, हर किसी को कानून का पालन करना ही होता है और करना ही पड़ेगा। जो लोग खुल कर के भ्रष्टाचार और काले धन का समर्थन नहीं कर पाते हैं, वे सरकार की कमियाँ ढूंढने के लिए पूरी देर लगे रहते हैं। एक बात ये भी आती है बार-बार नियम क्यों बदलते हैं। ये सरकार जनता-जनार्दन के लिये है। जनता का लगातार feedback लेने का प्रयास सरकार करती है। जनता-जनार्दन को कहाँ कठिनाई हो रही है! किस नियम के कारण दिक्कत आती है! उसका क्या रास्ता खोजा जा सकता है! हर पल सरकार एक सवेंदनशील सरकार होने के कारण जनता-जनार्धन की सुख-सुविधा को ध्यान में रखते हुए जितने भी नियम बदलने पड़ते हैं, बदलती है, ताकि लोगों की परेशानी कम हो। दूसरी तरफ, मैंने पहले ही दिन कहा था, 8 तारीख को कहा था, ये लड़ाई असामान्य है। 70 साल से बेईमानी और भ्रष्टाचार के काले कारोबार में कैसी शक्तियाँ जुड़ी हुई है? उनकी ताक़त कितनी है? ऐसे लोगों से मैंने जब मुकाबला करना ठान लिया है तो वे भी तो सरकार को पराजित करने के लिए रोज नये तरीके अपनाते हैं। जब वो नये तरीके अपनाते हैं तो हमें भी तो उसके काट के लिये नया तरीका अपनाना पड़ता है। तू डाल-डाल, तो मैं पात-पात, क्योंकि हमने तय किया है कि भ्रष्टाचारियों को, काले कारोबारों को, काले धन को, मिटाना है। दूसरी तरफ, कई लोगों के पत्र इस बात को लेकर के आए हैं जिसमें किस प्रकार की धाँधलियां हो रही हैं, किस प्रकार से नये-नये रास्ते खोजे जा रहे हैं इसकी चर्चा है।

मैं प्यारे देशवासियों को एक बात का हृदय से अभिनन्दन करना चाहता हूँ। आज आप लोग टी.वी. पर समाचार-पत्रों में देखते होंगे! रोज़ नये-नये लोग पकड़े जा रहे हैं! नोटें पकड़े जा रहे हैं! छापे मारे जा रहे है! अच्छे-अच्छे लोग पकड़े जा रहे हैं। ये कैसे संभव हुआ है? मैं Secret बता दूँ। Secret ये है कि जानकारियाँ मुझे लोगों की तरफ से मिल रही हैं। सरकारी व्यवस्था से जितनी जानकारी आती है उस से अनेक गुना ज्यादा सामान्य नागरिकों से जानकारियाँ आ रही हैं और ज्यादातर हमें सफलता मिल रही है वो जन-सामान्य की जागरूकता के कारण मिल रही है। कोई कल्पना कर सकता है – मेरे देश का जागरूक नागरिक ऐसे तत्वों को बेनकाब करने के लिए कितना risk ले रहा है और जो जानकारियाँ आ रही हैं उसमें ज्यादातर सफलता मिल रही है। मुझे विश्वास है कि सरकार ने इसके लिये जो एक e-mail address इस प्रकार की ख़बरें देना चाहते हैं उनके लिए बनाया है। उस पर भी भेज सकते हो, MyGov पर भी भेज सकते हो। सरकार ऐसी सारी बुराइयों के साथ लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है और जब आपका सहयोग है तो फिर लड़ना बहुत आसान है।

तीसरे पत्र, लेखकों का ग्रुप ऐसा है, वे भी बहुत बड़ी संख्या में हैं। वो कहते हैं मोदी जी थक मत जाना, रुक मत जाना और जितना कठोर कदम उठा सकते हो, उठाओ, लेकिन अब एक बार रास्ता पकड़ा है तो मंजिल तक पहुंचना ही है। मैं ऐसे पत्र लिखने वाले सब को विशेष रूप से धन्यवाद करता हूँ क्योंकि उनके पत्र में एक प्रकार से विश्वास भी है, आशीर्वाद भी है। मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ कि ये पूर्ण विराम नहीं है, ये तो अभी शुरुआत है, ये जंग जीतना है और थकने का तो सवाल ही कहाँ उठता है, रुकने का तो सवाल ही नहीं उठता है और जिस बात पर सवा-सौ करोड़ देशवासियों का आशीर्वाद हो, उसमें तो पीछे हटने का कोई प्रश्न ही नहीं उठता है। आपको मालूम होगा हमारे देश में ‘बेनामी संपत्ति’ का एक कानून है। Nineteen Eighty Eight, उन्नीस सौ अठास्सी में बना था, लेकिन कभी भी न उसके Rules बनें, उसको Notify नहीं किया, ऐसे ही वो ठंडे बस्ते में पड़ा रहा। हमनें उसको निकाला है और बड़ा धार-धार ‘बेनामी संपत्ति’ का कानून हमने बनाया है। आने वाले दिनों में वो कानून भी अपना काम करेगा। देशहित के लिये, जनहित के लिये, जो भी करना पड़े, ये हमारी प्राथमिकता है।

मेरे प्यारे देशवासियो, पिछली बार भी ‘मन की बात’ में मैंने कहा था कि इन कठिनाइयों के बीच भी हमारे किसानों ने कड़ी मेहनत कर के ‘बुवाई’ में पिछले साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। कृषि क्षेत्र के दृष्टि से ये शुभ संकेत हैं। इस देश का मजदूर हो, इस देश का किसान हो, इस देश का नौजवान हो इन सब के परिश्रम आज नये रंग ला रहे हैं। पिछले दिनों विश्व के ‘अर्थ मंच’ पर भारत ने अनेक क्षेत्र में अपना नाम बड़े गौरव के साथ अंकित करवाया है। हमारे देशवासियों के लगातार प्रयासों का परिणाम है कि अलग-अलग Indicators के ज़रिये अलग-अलग Indicators के ज़रिये भारत की वैश्विक ranking में बढ़ोतरी दिखाई दे रही है। World Bank की doing business report में भारत की ranking बढ़ी है। हम भारत में business practices को दुनिया के best Practices के बराबर बनाने का तेज़ी से प्रयास कर रहे हैं और सफलता मिल रही है। UNCTAD उसके द्वारा जारी world Investment report के अनुसार top prospective host economies for 2016-18 में भारत का स्थान तीसरा पहुँच गया है। World Economic Forum के global competitiveness Report में भारत ने 32 Rank की छलांग लगाई है। Global Innovation Index 2016 में हमने 16 स्थानों की बढ़त हासिल की है और World Bank के Logistics Performance Index 2016 में 19 rank की बढ़ोतरी हुई है। कई report ऐसे हैं जिसके मूल्यांकन भी इसी ओर इशारा करते हैं। भारत तेज़ी से आगे बढ़ रहा है ।

मेरे प्यारे देशवासियो, इस बार संसद का सत्र देशवासियों की नाराज़गी का कारण बना, चारों तरफ संसद के गतिविधि के संबंध में रोष प्रकट हुआ। राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति जी ने भी प्रकट रूप से नाराज़गी व्यक्त की, लेकिन इस हालत में भी, कभी-कभी कुछ अच्छी बात भी हो जाती है और तब मन को एक बहुत संतोष मिलता है। संसद के हो-हल्ले के बीच एक ऐसा उत्तम काम हुआ जिसकी तरफ देश का ध्यान नहीं गया है। भाइयो-बहनो, आज मुझे इस बात को बताते हुए गर्व और हर्ष की अनुभूति हो रही है कि दिव्यांग-जनों पर जिस Mission को ले करके मेरी सरकार चली थी, उससे जुड़ा एक बिल संसद में पारित हो गया, इसके लिये मैं लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसदों का आभार व्यक्त करता हूँ, देश के करोड़ों दिव्यांग-जनों की तरफ से आभार व्यक्त करता हूँ। दिव्यांगों के लिए हमारी सरकार Committed है। मैंने निजी-तौर पर भी इसे लेकर मुहिम को गति देने की कोशिश भी की है। मेरा इरादा था, दिव्यांग-जनों को उनका हक़ मिले, सम्मान मिले, जिसके वो अधिकारी हैं। हमारे प्रयासों और भरोसों को हमारे दिव्यांग भाई-बहनों ने उस वक़्त और मजबूती दी जब वे Paralympics में चार Medal जीत करके ले आये, उन्होंने अपनी जीत से न केवल देश का मान बढ़ाया बल्कि अपनी क्षमता से लोगों को आश्चर्य चकित भी कर दिया। हमारे दिव्यांग भाई-बहन भी देश के हर नागरिक की तरह हमारी एक अनमोल विरासत है, अनमोल शक्ति है। मैं आज बेहद खुश हूँ कि दिव्यांग-जनों के हित के लिए ये कानून पास होने के बाद दिव्यांगों के पास नौकरी के ज्यादा अवसर होंगे। सरकारी नौकरियों में आरक्षण की सीमा बढ़ा करके 4% कर दी गयी है। इस कानून से दिव्यांगो की शिक्षा, सुविधा और शिकायतों के लिए विशेष प्रावधान भी किये गए हैं। दिव्यांगों को ले करके सरकार कितनी संवेदनशील है इसका अंदाज़ आप इस बात से लगा सकते हैं कि केंद्र सरकार ने पिछले दो वर्ष में दिव्यांग-जनों के लिए चार हज़ार तीन सौ पचास कैंप लगाए। तीन सौ बावन करोड़ रूपयों की राशि खर्च करके पाँच लाख अस्सी हज़ार दिव्यांग भाई-बहनों को उपकरण बाँटे। सरकार ने United Nation की भावना के अनुरूप ही नया कानून पारित किया है। पहले दिव्यांगों की श्रेणी सात प्रकार की हुआ करती थी, लेकिन अब कानून बना करके उसे इक्कीस प्रकार की कर दी गई हैं। इसमें चौदह नई श्रेणियाँ और जोड़ दी हैं। दिव्यांगों की कई ऐसी श्रेणियाँ शामिल की गयी हैं जिसे पहली बार न्याय मिला है, अवसर मिला है। जैसे- Thalassemia, Parkinson’s, या फिर बौनापन, ऐसे क्षेत्रों को भी इस श्रेणी के साथ जोड़ दिया गया है। मेरे युवा साथियो, पिछले कुछ हफ्तों में खेल के मैदान में ऐसी ख़बरें आईं जिसने हम सब को गौरवान्वित कर दिया। भारतीय होने के नाते हम सब को गर्व होना बहुत स्वाभाविक है। भारतीय cricket टीम की इंग्लैंड के खिलाफ़ चार शून्य से सीरीज में जीत हुई है। इसमें कुछ युवा खिलाड़ियों की Performance काबिले तारीफ़ रही। हमारे नौजवान करुण नायर ने Triple Century लगाई, तो, के.एल. राहुल ने 199 रनों की पारी खेली। टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने तो अच्छी batting के साथ-साथ अच्छा नेतृत्व भी दिया। भारतीय क्रिकेट टीम के off-spinner गेंदबाज आर. अश्विन को ।CC ने वर्ष 2016 का ‘Cricketer Of The Year’ और ‘Best Test Cricketer’ घोषित किया है। इन सब को मेरी बहुत-बहुत बधाईयाँ, ढेर सारी शुभकामनायें। हॉकी के क्षेत्र में भी पंद्रह साल के बाद बहुत अच्छी खबर आई, शानदार खबर आई। Jun।or Hockey Team ने World Cup पर कब्ज़ा कर लिया। पंद्रह साल के बाद ये मौका आया है जब Jun।or Hockey Team ने World Cup जीता। इस उपलब्धि के लिये नौजवान खिलाड़ियों को बहुत-बहुत बधाई। ये उपलब्धि भारतीय हॉकी टीम के भविष्य के लिये शुभ संकेत है। पिछले महीने हमारी महिला खिलाड़ियों ने भी कमाल करके दिखाया। भारत की महिला हॉकी टीम ने As।an Champions Trophy भी जीती और अभी-अभी कुछ ही दिन पहले Under 18 As।a Cup भारत की महिला हॉकी टीम ने Bronze Medal हासिल किया। मैं क्रिकेट और हॉकी टीम के सभी खिलाड़ियों को ह्रदय से बहुत-बहुत अभिनन्दन करता हूँ।

मेरे प्यारे देशवासियो, 2017 का वर्ष नई उमंग और उत्साह का वर्ष बने, आपके सारे संकल्प सिद्ध हों, विकास की नई ऊँचाइयों को हम पार करें। सुख चैन की ज़िन्दगी जीने के लिए ग़रीब से ग़रीब को अवसर मिले, ऐसा हमारा 2017 का वर्ष रहे। 2017 के वर्ष के लिये मेरी तरफ से सभी देशवासियों को अनेक-अनेक शुभकामनायें। बहुत-बहुत धन्यवाद।

***

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की मन की बात:  नोट बंदी के बाद 27 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात की और इसका जनसमर्थन करने के लिए लोगों का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने लोगों को हुई असुविधा पर खेद जताया। प्रधानमंत्री ने कहा कि नोटबंदी के जरिए हमारा सपना कैशलेस सोसायटी बनाना है, जहां भ्रष्टाचार का खात्मा हो सके। उन्होंने इस काम के लिए देशभर के युवाओं से सहयोग देने की अपील की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छोटे कारोबारियों, मजदूरों और आम लोगों से भी मोबाइल बैंकिंग अपनाने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि सरकार इसे और सरल बनाने के लिए बैंकों के साथ मिलकर काम कर रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने इसे प्रोत्साहन देने के लिए डेबिट-क्रेडिट कार्ड पर लगने वाला ट्रांजैक्शन चार्ज हटा लिया है।

पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी की वजह से चार गुणा पैसा ज्यादा आ गया। इसका इस्तेमाल गांवों में सड़कें बनाने, बिजली-पानी पहुंचाने के लिए किया जाएगा। मोदी ने कहा कि जो लोग अपने पैसों को सफेद करने के लिए गरीबों का सहारा ले रहे हैं, वह गलत कर रहे हैं। मोदी ने कहा कि अमीर लोग अपने गलत काम के लिए उनके प्यारे गरीबों का सहारा ना लें। पीएम ने सभी गरीबों को भी झांसे में नहीं आने की सलाह दी है।

भारत ऐसा देश है कि जिसके पास 65% जनसंख्या, 35 साल से कम उम्र की है। आप मेरे देश के युवा और युवतियाँ, मैं जानता हूँ, मेरा निर्णय तो आपको पसन्द आया है। माँ भारती की सेवा करने का एक अद्भुत मौका हमारे सामने आया है, देश को आर्थिक ऊंचाइयों पर ले जाने का अवसर आया है।

आप App क्या होती है, वो जानते हो,ऑन लाइन बैंकिंग क्या होता है, जानते हो, ऑन लाइन टिकेट बुकिंग कैसे होता है, आप जानते हो। आपके लिये चीज़ें बहुत सामान्य हैं और आप उपयोग भी करते हो। लेकिन आज देश जिस महान कार्य को करना चाहता है, हमारा सपना है कैशलेस सोसाइटी . ये ठीक है कि शत-प्रतिशत कैशलेस सोसाइटी संभव नहीं होती है। लेकिन क्यों न भारत लेस-कैशलेस सोसाइटी की तो शुरुआत करे। एक बार अगर आज हम लेस-कैशलेस सोसाइटी की शुरुआत कर दें, तो कैशलेस सोसाइटी की मंज़िल दूर नहीं होगी।

आप जानते हैं, कैशलेस सोसाइटी Cshless society के लिये, डिजिटल बैंकिंग digital banking के लिये या मोबाइल बैंकिंग mobile banking के लिये आज कितने सारे अवसर हैं। हर बैंक ऑनलाइन online सुविधा देता है। हिंदुस्तान के हर एक बैंक की अपनी मोबाइल आप mobile app है। हर बैंक का अपना वल्लेट wallet है। वल्लेट wallet का सीधा-सीधा मतलब है e-बटुवा। कई तरह के कार्ड उपलब्ध हैं। जन-धन योजना के तहत भारत के करोड़ों-करोड़ ग़रीब परिवारों के पास रूपी कार्ड Rupay Card है और 8 तारीख़ के बाद तो जो रूपी कार्ड Rupay Card का बहुत कम उपयोग होता था, गरीबों ने रूपी कार्ड Rupay Card का उपयोग करना शुरू किया और क़रीब-करीब 300% उसमें वृद्धि हुई है। जैसे मोबाइल फ़ोन mobile phone में प्री-पेड कार्ड prepaid card आता है, वैसा बैंकों में भी पैसा ख़र्च करने के लिये प्री-पेड कार्ड prepaid card मिलता है। एक बढ़िया प्लेटफार्म platform है, कारोबार करने की यूपीआई UPI, जिससे आप ख़रीदी भी कर सकते हैं, पैसे भी भेज सकते हैं, पैसे ले भी सकते हैं। और ये काम इतना simple है जितना कि आप WhatsApp व्हाट्स आप भेजते हैं। कुछ भी ना पढ़ा-लिखा व्यक्ति होगा, उसको भी आज व्हाट्स आप WhatsApp कैसे भेजना है, वो आता है, फॉरवर्ड forward कैसे करना है, आता है। इतना ही नहीं, टेक्नोलॉजी technology इतनी सरल होती जा रही है कि इस काम के लिए कोई बड़े स्मार्ट फ़ोन smart phone की भी आवश्यकता नहीं है। साधारण जो फीचर फ़ोन feature phone होता है, उससे भी कॅश ट्रांसफर cash transfer हो सकती है। धोबी हो, सब्ज़ी बेचनेवाला हो, दूध बेचनेवाला हो, अख़बार बेचनेवाला हो, चाय बेचनेवाला हो, चने बेचनेवाला हो, हर कोई इसका आराम से उपयोग कर सकता है। और मैंने भी इस व्यवस्था को और अधिक सरल बनाने के लिए और ज़ोर दिया है। सभी बैंक इस पर लगी हुई हैं, कर रही हैं। और अब तो हमने ये कैंसिल online surcharge का भी ख़र्चा आता था, वो भी कैंसिल cancel कर दिया है। और भी इस प्रकार के कार्ड वगैरह का जो ख़र्चा आता था, उसे आपने देखा होगा पिछले 2-4 दिन में अख़बारों में, सारे ख़र्चे ख़त्म कर दिए, ताकि कैशलेस सोसाइटी cashless society की मूवमेंट movement को बल मिले।

आप एक काम कीजिए, आज से ही संकल्प लीजिए कि आप स्वयं कैशलेस सोसाइटी cashless society के लिए ख़ुद एक हिस्सा बनेंगे। आपके मोबाइल फ़ोन mobile phoneपर ऑनलाइन online ख़र्च करने की जितनी टेक्नोलॉजी technology है, वो सब मौजूद होगी। इतना ही नहीं, हर दिन आधा-घंटा, घंटा, दो घंटा निकाल करके कम से कम 10 परिवारों को आप ये टेक्नोलॉजी technology क्या है,technologyटेक्नोलॉजी का कैसे उपयोग करते हैं, कैसे अपनी बैंकों की आप डाउनलोड App download करते हैं? अपने खाते में जो पैसे पड़े हैं, वो पैसे कैसे ख़र्च किए जा सकते हैं? कैसे दुकानदार को दिए जा सकते हैं? दुकानदार को भी सिखाइये कि कैसे व्यापार किया जा सकता है? आप स्वेच्छा से इस कैशलेस सोसाइटी cashless society, इन नोटों के चक्कर से बाहर लाने का महाभियान, देश को भ्रष्टाचार मुक्त करने का अभियान, काला-धन से मुक्ति दिलाने का अभियान, लोगों को कठिनाइयों-समस्याओं से मुक्त करने का अभियान – इसका नेतृत्व करना है आपको। एक बार लोगों को रूपे Rupay Card का उपयोग कैसे हो, ये आप सिखा देंगे, तो ग़रीब आपको आशीर्वाद देगा।

ये काम आप अपने मोबाइल फ़ोन mobile phone के ज़रिये कर सकते हो, रोज़ 10 घरों में जाकर के कर सकते हो, रोज़ 10 घरों को इसमें जोड़ करके कर सकते हो। केन्या, उसने बीड़ा उठाया,एम् -पेसा M-PESA ऐसी एक मोबाइल mobile व्यवस्था खड़ी की, क्नोलॉजी technology का उपयोग किया, एम् -पेसाM-PESA नाम रखा और आज क़रीब-क़रीब आफ्रिका Africa के इस इलाक़े में केन्या में पूरा कारोबार इस पर shift होने की तैयारी में आ गया है। एक बड़ी क्रांति की है इस देश ने।

Shivaji memorial Inaugration by PM Modi reminds us Eknath Ranade and Vivekanand Rock Memorial

Image result for Vivekananda Rock EknathJi?Related image

 

Anti-Demonetisation forces trying to shield the corrupts as Jihadi Neighbour doing

Anti-Demonetisation forces, Shield the corrupts, Jihadi Neighbour, PM Modi, Varanasi, Black Money, Black Mind, Rajiv Gandhi, Earthquake, Pappu, Surgical strike, Media

Anti-Demonetisation forces trying to shield the corrupts as Jihadi Neighbour (Pakistan) doing

PM Narendra Modi’s full speech on black money crackdown: Here’s how the government scripted history

Main Points with Comentting Photos are following:

Kabhi socha nahi tha ki desh ke kuch raajneta himmat ke sath beimaano ke sath khadey ho jaayenge : PM Modi in Varanasi

PM Modi speaking at the foundation stone laying ceremony of Mahamana Pt Madan Mohan Malaviya Cancer Centre in Varanasi

9-rahu-ne-bolna

1

Ek yuva neta hain, abhi bhaashan seekh rahe hain. Jab se unhone bolna seekha hai, meri khushi ka koi paar nahi

29-pappu-in-packet2009 me pata hi nahi chalta tha ki iss packet ke ander kya hai. Ab pata chal raha hai ki kya hai: PM Modi in Varanasi

3

Mr. Gandhi’s “earthquake” threat, Mr. Modi said had he not spoken the country would have to live through a terrible earthquake. “It would take us 10 years to recover. Thank god, he started speaking. Now we know there is no danger of a tremor,” Mr. Modi said.

Naa bolte toh bada bhukamp aajata, achha hua bolna shuru kiye-bhukamp ki sambhaavna khatm

 

3-love-earth

Media report Dec 9, 2016: Lekin achha hua bolna shuru kar diya, toh pata chal raha hai bhukamp ki sambhaavna bachhi hi nahin: PM Modi

Naa bolte toh bada bhukamp aajata, aur desh ko kitna bada bhukamp jhelna padta ki desh 10 saal tak ubhar na pata: Lekin achha hua bolna shuru kar diya, toh pata chal raha hai bhukamp ki sambhaavna bachhi hi nahin: PM Modi

3

Black Mone-Black Mind: “If black money is being exposed on one hand, black minds are being exposed too,” the PM said. 9-black-money-mind

4

Surgical Strike shut mout of Pakistan but in India Rro Pak lobby open their moth to Q army?

@irahsinha Salute to for across LOC .J
ai hind

Our army makes us proud but some people have questions even on their bravery. Is it good to view institutions like this: Desh ki Sena ke Jawan maut ko mutthi me lekar Pakistan ko jaate hain aur zinda laut ke aate hain. Kuch logo ko ispr bhi pareshani hogayi: PM Modi

Pakistan ko ghuspethiyon ko Hindustan mein bhejna ho toh kya karta hai? Seema par firing shuru kar deta hai:

5

Note ban Opponents trying to shield the corrupt as Jihadi Neighbour doing

PM Modi today equated opponents of ‘note ban’ of trying to shield the corrupt, just as Pakistan starts firing on Indian border posts to distract Indian Army so that infiltrators can sneak into Jammu and Kashmir (J&K) under its cover.

Kabhi socha nahi tha ki desh ke kuch raajneta himmat ke sath beimaano ke sath khadey ho jaayenge : PM Modi in Varanasi Pakistan ko ghuspethiyon ko Hindustan mein bhejna ho toh kya karta hai? Seema par firing shuru kar deta hai:  Toh humari fauj bhi busy ho jaati hai unke saath, aur lapak karke wo ghus jate hain: PM

Pakistani Army Gives Cover Firing For Militants Wanting To Infiltrate …

https://www.youtube.com/watch?v=D2yITgB5jd4
6

Demonetisation a cyclone an Ind Cricket Team for England: #Vardah uprooting trees of terror, corrupt and black money

Demonetisation aVardah, Ind Cricket Team,  Uprooting trees of terror, Black money, Indian Navy, Anurag Thakur, BCCI, Virat Kohli’s coach

dec-12-demonetisation-cyclonedec12-cricket-cyclone-kohli

Anurag Thakur,BCCI Pres’s comment after the victory of Indian cricket team against England:

(1) Want to congratulate Indian cricket team, hope they continue to do well & remain no. 1 in coming series against Aus

(2) Khisiyaani billi khamba nochey: Anurag Thakur, BCCI President on England commentators’ and James Anderson’s remarks about Virat Kohli

5th Test will take place in Chennai, TN Sports authority is keen on hosting it. No changes as of now

Virat proved everything to the world,shows their frustration: Virat Kohli’s coach Rajkumar Sharma on England commentators’ remark abt Kohli

*

dec12-cyclone-trees

Cyclone ‘s distance from Chennai is 50 kms now: NDMA

All operations at the Chennai airport suspended till 3 PM today

Over 9,500 people evacuated from Andhra Pradesh

As reported by Indian Navy: 30 fully equipped diving teams on standby and 2 Indian Navy ships Shivalik & Kadmatt stationed at sea near Chennai to provide immediate assistance if required:

dec-cyclone-navy

Rahul’s Quake claim to remind Rajiv’s “When a big tree falls, Earth is bound to shake..ePaper P5

Rahul Gandhi, Lok Sabha, Cashless, Venkaiah Naidu, Mallya, Congress, PM Modi,  Black day, Black money

p2-a p2-b p2-c

———————————-

Please feel free to read my books:

Silent Assassins of Lal Bahadur Shastri, Jan 11-1966

Accursed & Jihadi Neighbour

राष्ट्रीय एकता

डी एल एफ – वाड्रा : भ्रष्ट तंत्र 

SUPREME COURT ON HINDU HINDUTVA AND HINDUISM